Roman Gods
क्या आप ने कभी सोचा है
अंगेजी महीनों के नाम की उत्पति कैसे हुई ?

किसने सबसे पहली इनका नामकरण किया ?

यही सवाल कभी न कभी हम सभी के दिमाग में अवश्य आया होगा की आज हम जीन महीनो के नाम बचपन में याद करते थे उन अंगेजी महीनों के नाम की उत्पति कैसे हुई।
महीनों के यह नाम कैसे पड़े और किसने सबसे पहली इनका नामकरण किया।

» जनवरी (January) जनवरी महीने का नाम रोमन देवता 'जेनस' के नाम पर है। माना जाता है के जेनस के दो चेहरे हैं एक चेहरे से वह पीछे देखते है और दूसरे चेहरे से आगे। उसी प्रकार जनवरी भी दो चेहरो से बीते हुए वर्ष और अगले वर्ष को देखता है। जेनस को लैटिन में जैनअरिस कहा जाता है और यहाँ बाद में जेनुअरी बना और हिन्दी में जनवरी कहा जाने लगा।

» फरवरी (February) फरवरी महीने के नाम का संबंध रोम की एक देवी फेबरुएरिया से माना जाता है। जो रोमन संतानोत्पत्ति की देवी है इस महीने में महिलाएँ फेबरुएरिया देवी की पूजा कर संतान प्राप्ति की प्रार्थना किया करती थी

»मार्च (March) रोमन वर्ष का प्रारंभ मार्च महीने से ही होती है। मार्च का नामकरण रोमन युद्ध के देवता मार्स (Mars) के नाम पर किया गया। सर्दियां ख़तम होने पर लोग दुश्मन देश पर आक्रमण करते थे इसलिए इस महीने को मार्स नाम दिया गया।  जो आगे चलकर पुरानी फ्रेंच भाषा में मर्ज़ बना तथा अंग्रेजी में March हो गया।

» अप्रैल (April) महीने का नामकरण लैटिन शब्द 'एस्पेरायर' से हूआ जिसका अर्थ होता है ''कलियों का खुलना' प्राचीन रोम में इसी महीने मे बसंत ऋतु का आगमन होता था और कलियां खिलकर फूल बनती थीं। इसलिए इस महीने का नाम एप्रिलिस रखा गया जो बाद मे जाकर अप्रैल बन गया। परंतु प्राचीन समय में वर्ष केवल दस माह का होने के कारन यह महीना बसंत ऋतु से काफी दूर होता चला गया। और जब वर्ष में दो महीने और जोड़े तब एप्रिलिस का नाम बसंत ऋतु से फिर जोड़ा गया।

» मई (May) मई महीने का नाम 'मइया' के नाम पर रखा गया था जो की रोमन देवता मरकरी की माता है। साथ ही मई की उत्पत्ति लैटिन के मेजोरेस से भी मानी जाती है। 

» जून (June) जिस प्रकार भारत मे इंद्र को देवताओं का राजा मन जाता है उसी प्रकार रोम में जीयस को मन जाता है। और जून का नामकरण जीयस की पत्नी जूनो के नाम पर हुआ।

» जुलाई (July) प्राचीन रोमन कैलेंडर में जुलाई पांचवा महीना था इसीलिए इसका नाम क्विंटिलिस था। जिसका अर्थ होता है "पांचवा" परन्तु जूलियस सीजर की हत्या के पश्चात राजा जूलियस सीजर को सम्मान देने के लिए क्विंटिलिस महीने का नाम जूलियस रखा गया क्योकि क्विंटिलिस महीने में ही उनका जन्म और मृत्यु हुई थी। जो बाद में जाके जुलाई हो गया।

» अगस्त (August)प्राचीन रोमन कैलेंडर में यह छठा महीना था। इसीलिए इसका नाम सैक्सिटिलिस रखा गया जिसका अर्थ होता था छठवां महीना। बाद में जब वर्ष 12 महीने का हो गया तब यह आठवां महीना बन गया लेकिन यह सैक्सिटिलिस के नाम सी ही जाना जाता रहा। बाद में जूलियस सीजर के भतीजे आगस्टस सीजर ने अपने नाम को अमर बनाने के लिए सेक्सटिलिस का नाम बदलकर अगस्टस कर दिया जो बाद में केवल अगस्त रह गया। 

» सितम्बर (September) सितम्बर का नाम "सेप्टम" आधार पर पड़ा जिसका अर्थ होता है सात क्योकि यह महीना पहले सातवे स्थान पर आता था। बाद में यह नौवाँ महीना बन गया किन्तु इसका नाम नही बदला गया।

» अक्टूबर (October) प्राचीन रोमन कैलेंडर में यह महीना आठवें स्थान पर था। लैटिन भाषा में आठ को 'आक्ट' कहा जाता था इसी आधार पर इसे अक्टूबर का नाम दिया गया जिसे आज तक नही बदला गया। 

» नवम्बर (November) प्राचीन रोमन कैलेंडर में 9वा महीना होने के आधार पर इसे 'नोवेम्बर' यानी नौवाँ कहा गया। बाद में वर्ष 12 महीने का हो जाने पर यह 11वां महीना हो गया फिर भी यह ऐसी नाम सी जाना जाता है

» दिसम्बर (December) प्राचीन कैलेंडर में जब दिसम्बर दसवां महीना था तो दस के आधार पर इस महीने को डेसेंबर कहा गया। बाद में जब यह 12 वा महीना बना तब भी इसका नाम बदला नही गया। प्रसिध्द रोमन सम्राट लूसियस इसका नाम बदलकर अपनी पत्नी के नाम पर करना चाहते थे परन्तु इस प्रस्ताव को मंजूरी नहीं दी गयी।

Sita Holidays

Please submit your comment...